भारतभूषण अग्रवाल सम्मान से सम्मानित अदनान कफील दरवेश की कविता ‘क़िबला’ पर युवा आलोचक आशीष मिश्र का लेख

0 comments

  ‘क़िबला’ के बहाने घरेलू श्रम पर बातचीत – आशीष मिश्र है परे सरहद-ए-इदराक से अपना मस्जूद क़िब्ले को एहल-ए-नज़र क़िबला-नुमा कहते हैं -ग़ालिब [1] कवि-मित्र अदनान को उनकी ‘क़िबला’ कविता और उसपर भारत भूषण अग्रवाल सम्मान की घोषणा पर बधाई! आगे इस काव्य-यात्रा के लिए शुभकामनाएँ! मैं अपने समय की रचनाशीलता से वाकिफ़ हूँ, […]

मुक्तिबोध जन्म-शताब्दी के अवसर पर

मुक्तिबोध जन्म-शताब्दी के अवसर पर

0 comments

मुक्तिबोध की आलोचना-दृष्टि  बहस छिड़ी है…   यह साल गजानन माधव मुक्तिबोध की जन्म-शताब्दी का साल है । मुक्तिबोध की शताब्दी की धूम रही । मुक्तिबोध के प्रशंसकों और उनके निंदकों दोनों ने अपनी-अपनी तरह से मुक्तिबोध को याद किया । इस शताब्दी वर्ष में उन पर लिखा खूब गया । हिंदी की लगभग सभी […]

पक्षधर का नया अंक (अंक-23 : जुलाई-दिसंबर 2017)

पक्षधर का नया अंक (अंक-23 : जुलाई-दिसंबर 2017)

2 comments

    पक्षधर का नया अंक (अंक-23 : जुलाई-दिसंबर 2017) पक्षधर-23   अनुक्रम संपादकीय बहस छिड़ी है… एक कवि  : एक राग विजय कुमार की पंद्रह कविताएँ मैं शब्दकोशों से बाहर जीवन देख रहा हूँ/ अच्युतानंद मिश्र  व्याख्यान साहित्य : सत्य  और प्रकाश/ अशोक वाजपेयी विशेष-1 अक्टूबर  क्रांति  की शताब्दी सोवियत क्रांति : मानव संघर्ष […]